प्रेस विज्ञप्ति :विदेशी निवेश किसानों के साथ वादाखिलाफी
प्रेस विज्ञप्ति :विदेशी निवेश किसानों के साथ वादाखिलाफी

भारत सरकार द्वारा दिनांक 20 जून-2016 को की गई उक्त घोषणा के संबंध में भारतीय किसान संघ का यह स्पष्ट मत रहा है कि ..

पानी बचाने के लिए आगे आए किसान, चलाएंगे जल आंदोलन
पानी बचाने के लिए आगे आए किसान, चलाएंगे जल आंदोलन

खेती में मेहनत कर पेट पालने वाले किसान देश में हो रहे जल संकट के खिलाफ हुंकार भरेगें। जल संकट के चलते पैदा हो रही स्थिति पर काबू पाने का बीड़ा किसानों ने उठाने का निर्णय लिया है। भारतीय किसान संघ के बैनर तले प्रदेश के किसान प्रदेशभर में जलांदोलन ..

राष्ट्रीय अधिवेशन,जयपुर दूसरा दिन
राष्ट्रीय अधिवेशन,जयपुर दूसरा दिन

भारतीय किसान संघ के राष्ट्रीय अधिवेशन का दूसरा दिन जैविक खेती के नाम रहा। प्रथम सत्र की अध्यक्षता करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर क्षेत्र संघचालक डॉ. बजरंग लाल गुप्ता ने कहा कि हिन्दुस्तान खड़ा हो गया तो जगतगुरू बनेगा जिसे कोई रोक नहीं ..

भारतीय किसान संघ की दो पुस्तकों का विमोचन
भारतीय किसान संघ की दो पुस्तकों का विमोचन

मुहाना मंडी में 19 फरवरी से शुरू होने वाले भारतीय किसान संघ के अखिल भारतीय अधिवेशन में आने वाले देशभर..

किसानों के लिए दी गई राहत का स्वागत एवं स्थायी राहत प्रणाली देने की मांग

भारतीय किसान संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी की बैठक दिनांक 2,3 अप्रैल को हरिद्धार में संपन्न हुई। इस बैठक में अभी-अभी हुई बेमौसम वर्षा और ओलावृष्टि से देशभर के अनेक प्रांतों में लगभग 113 लाख हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गई। ..

भारतीय किसान संघ के प्रबंध समिति की बैठक

भारतीय किसान संघ के प्रबंध समिति की बैठक जबलपुर में २८ , २९ जुलै को संपन्न हुई। बैठक में निम्न प्रस्ताव पारित किये गये।..

भूमि अधिग्रहण अध्यादेश स्वागतयोग्य लेकिन कुछ सुधार जरुरी

भारत सरकार द्वारा अध्यादेश लाकर भूमि अधिग्रहण कानून में किए गए संशोधनों का भारतीय किसान संघ ने स्वागत किया है,लेकिन साथ ही कुछ प्रावधानों को लेकर आपत्ति जताते हुए किसान हित में कुछ सुझाव प्रस्तुत किए..

कपास के मूल्य पर सरकार से दो-दो हाथ करने को तैयार किसान

राजकोट- कपास के समर्थन मूल्य को लेकर भारतीय किसान संघ राज्य सरकार से दो- दो हाथ करने की तैयारी में है । अपनी मांगो को लेकर पुरे सौराष्ट्र के किसान ने सोमवार को राजकोट के कोर्स रिंग रोड पर रैली आयोजित की । इस रैली में बड़ी संख्या में किसान एकजुट हुए।किसानो ..

नव निर्वाचित भारत सरकार अपने वचन का पालन करें

पिछले कई वर्षों में देश का किसान, सरकार की गलत नीतियों को झेल रहा था। डीजल, खाद, बीज, पानी, बिजली आदि सभी कृषि आदानों के दाम कई गुना हो चुके थे। इसके बावजूद किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य देने की सरकार के पास कोई योजना नहीं थी। इसी कारण लगभग तीन ..

अखिल भारतीय कार्यकारिणी बैठक विजयवाड़ा प्रेस विज्ञप्ति
अखिल भारतीय कार्यकारिणी बैठक विजयवाड़ा प्रेस विज्ञप्ति

विगत 30, 31 जुलाई को भारतीय किसान संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी बैठक विजयवाड़ा (आंध्रप्रदेश) के नुटक्की में संपन्न हुई। इस बैठक में ..

प्रेस विज्ञप्ति भारतीय किसानसंघ जयपुर अधिवेशन
प्रेस विज्ञप्ति भारतीय किसानसंघ जयपुर अधिवेशन

भारतीय किसानसंघ का ग्यारहवां राष्ट्रीय अधिवेशन “जैविकमय भारत बनायेंगे“ के संकल्प के साथ रविवार को सम्पन्न हो गया। इसमें देश के सभी प्रांतोसे आये प्रतिनिधियोंने तीन दिनों तक विचार मंथन कर देश के हर गांव तक संगठन को पहुंचाने की योजना..

किसानों ने भूमि पूजन कर अधिवेशन की तैयारियों का किया आगाज
किसानों ने भूमि पूजन कर अधिवेशन की तैयारियों का किया आगाज

भारतीय किसान संघ ने 19 से 21 फरवरी 2016 तक तीन दिवसीय अखिल भारतीय अधिवेशन तथा 18 फरवरी 2016 से राष्ट्रीय कृषि मेला जो कि मुहाना मण्डी, सांगानेर, जयपुर में होने..

बस्तर की कुटकी में मिले सर्वाधिक लौह तत्व

जगदलपुर, अक्टूबर 31: लघु धान्य फसल कुटकी के हर सौ ग्राम में 28.3 मिली ग्राम आयरन होने की पुष्टि शहीद गुण्डाधूर कृषि महाविद्याल व अनुसंधान केंद्र ने की है..

वर्ल्ड हेल्थ-डे: 1700 किसानों ने तय किया रसोई तक सेहत पहुंचाएंगे
वर्ल्ड हेल्थ-डे: 1700 किसानों ने तय किया रसोई तक सेहत पहुंचाएंगे

425 पंचायतों में किसानों के बीच जैविक खेती कर लोगों को बीमारियों से बचाने की मुहिम सहित कई छोटी-बड़ी कोशिशें ..

दुष्काळी ज्वारी ठरेल उसाला भारी

संवेदनशील अवस्थेत संरक्षित पाण्यासाठी ठिबक सिंचन , योग्य अंतरावर लागवड व विद्राव्य खतांचा वापर या त्रिसूत्रीचा वापर केल्यास ज्वारीचे अवघ्या चार महिन्याचे पीक 16 महिन्यांच्या बागातील ऊस पिकालाही भारी पडू शकते..

भारतीय किसान संघ राजस्थान प्रदेश प्रेस नोट
भारतीय किसान संघ राजस्थान प्रदेश प्रेस नोट

भारतीय किसान संघ द्वारा आयोजित किये जा रहे जैविक खेती प्रषिशण वर्ग के दूसरे दिन देश में बढ रही कृषि लागत पर चिन्ता व्यक्त करते हुए देश के करीब दो दर्जन राज्यों के जैविक कृषि कर रहे किसानो ने आपस में विचार साझा किए..

भारतीय किसान संघ का राजस्थन के सभी तहसिल केंद्र पर प्रदर्शन
भारतीय किसान संघ का राजस्थन के सभी तहसिल केंद्र पर प्रदर्शन

दि.9 अगस्त 16 को भारतीय किसान संघ का राजस्थन के सभी तहसिल केंद्र पर किसनो कि समस्या लेकर प्रदर्शन सिचांई:- जयपुर जिले के सूखे बांधो को यमूना के बाढ़ का पानी लाकर भरा जाये। ..

विवाद नही संवाद चाहता हैं किसान : भारतीय किसान संघ
विवाद नही संवाद चाहता हैं किसान : भारतीय किसान संघ

राई सोनीपत,10 अप्रैल, भारतीय किसान संघ सोनीपत की जिला मासिक पंचायत मनोली गांव में हुईं,जिसकी अध्यक्षता जिला प्रधान ताहर सिंह ने की, पंचायत में तीन मुद्दों पर प्रमुख रूप से विचार किया गया..

अखिल भारतीय अधिवेशन, जयपुर में पारित प्रस्ताव
अखिल भारतीय अधिवेशन, जयपुर में पारित प्रस्ताव

भारतीय किसान संघ ने ’’देश का हम भंडार भरेंगे, लेकिन कीमत पूरी लेंगे’’ इस नारे को लेकर अपना कार्य शुरू किया। किसानों की सारी समस्याओं के समाधान के लिए सर्घष करना और अच्छी खेती ..

भूमि अधिग्रहण अध्यादेश : भा.कि.संघ की भूमिका

गत 31 दिसंबर 2014 को केंद्र सरकार ने 2013 के भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन करने के लिए अध्यादेश लाया और तबसे पूरे देश में इस पर बवाल मचा हुआ है। सरकार एवं विपक्ष दोनों भी इस संदर्भ में अनेक तर्क-वितर्क दे रहे हैं। दोनों भी स्वयं को किसान हितैषी ..

भारतीय किसान संघ का त्रिदिवसीय जैविक खेती राष्ट्रीय प्रशिक्षण
भारतीय किसान संघ का त्रिदिवसीय जैविक खेती राष्ट्रीय प्रशिक्षण

झालावाड (असनावर) , 26 दिसम्बर। जैविक कृषी से ही जमीन की समृद्धता बढेगी।यह किसान को स्वावंलबी बनाने में एक मात्र मददगार है। किसान स्वावंलम्बी होगा तो भारत भी..

कपास के कमतर मूल्य परकिसानों का धरना-प्रदर्शन

अमरेली: भारतीय किसान संघ ने अमरेली जिला कलेक्टर परिसर में गुरुवार को धरना-प्रदर्शन किया। भारतीय किसान संघ ने कपास, मूंगफली और ज्वार की फसल पर लागत के आधार पर मूल्य देने संबंधी एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। ज्ञापन में प्रशासन को चेताया गया कि यदि ..

कृषी आधारित अर्थ ववस्था ही विकाशशील हो सकती है

देश की नीति निर्माताओ द्वारा गत ६५ वर्षो से कृषी और किसानो की लगातार उपेक्षा किये जाने के कारण कृषी आधारित अर्थ व्यवस्था मंदी के गर्त मे डूब गई है | हमारा पूर्ण विश्वास है की कृषी एव ग्रामोद्योग आदि को आधार बनाकर अर्थ व्यवस्था की नये शिरे से रचना ..